सोन पापड़ी कैसे बनती है | बनाने के अमेजिंग टिप्स

Published by vikas_vaani on

सोन पापड़ी कैसे बनती है

सोन पापड़ी कैसे बनती है –  सोन पापड़ी एक प्रमुख स्वादिष्ट परतदार मुंह में घुल जाने वाला भारतीय मिठाई है जिसे बनाना घर पर बनाना बहुत आसान है आप घर पर बहुत ही कम चीजों में बाजार जैसा सोनपापड़ी बना सकते है |

सोन पापड़ी किस चीज से बनती है । (सामग्री)

सामग्रीमात्रा
बेसनएक कप
मैदाएक कप
चीनीडेढ़ कप
घीआधा कप
इलाइची पाउडरआधा छोटा चम्मच
बादाम पिस्ताटुकड़ों में कतरा हुआ
पानीएक  कप

 

यह भी पढ़ें :-  घर पर ही बनायें भंडारे जैसा सूजी का हलवा 

सोन पापड़ी कैसे बनती है |

निर्देश:

स्टेप 1  बेसन और मैदा को एक साथ मिला लीजिये ! उसके बाद एक सॉस पैन में घी डाल कर गरम होने दीजिये ! अब मिश्रण किया हुवा बेसन और मैदा को धीरे धीरे डालिये और धीमी आंच पर आटे का मिश्रण को सुनहरा होने तक भून लीजिये ! उसके बाद साइड में ठंडा होने के लिए रख दीजिये !

स्टेप 2  अब एक दूसरा पैन में आधा कप पानी, दो चम्मच दूध और चीनी को डाल दीजिये और चलाते हुवे उबालिये और दो से ढाई तार होने तक चासनी बना लीजिये !

स्टेप 3  अब चासनी में बेसन और मैदा का मिश्रण को धीरे धीरे डालिये ! और साथ में इलाइची पाउडर भी डाल कर  दस मिनट तक आटे को गुंथ लीजिये !

स्टेप  4 अब एक थाली में थोड़ा सा घी लगाइये और मिश्रण को सामान रूप से थाली में फैला लीजिये ! और ऊपर से पिस्ता, बादाम कटरा हुवा डाल कर  सेट होने के लिए छोड़ दीजिये !

स्टेप 5  सेट होने के बाद चाकू के मदद से अपने अनुसार छोटा या बड़ा साइज़ में काट लीजिये और सभी को परोसिये !

यह भी पढ़ें :-  घर पर बनायें बिना खोए की नारियल की बर्फी

सुझाव

सोनपापड़ी को ठंडा होने के बाद सर्व करें और आपके परिवार और मित्रों के साथ शेयर करें।

इस पूरी विधि के अंत में आपको मिठी, कुरकुरी, और स्वादिष्ट सोनपापड़ी मिलेगी, जिसे आप खाकर अपने मित्रों और परिवार से तारीफें प्राप्त करेंगे। सोनपापड़ी बनाना आसान हो सकता है, लेकिन इसमें सही समय, गुणवत्ता, और प्यार डालना महत्वपूर्ण है।

pepole also ask

प्रश्न :-  सोन पापड़ी कितने दिन में खराब होती है?

उत्तर  :-  सूखी मिठाई होने के कारण सोनपापड़ी जल्दी खराब नहीं होती। एयर टाइट कंटेनर में रखने पर ये 6 हफ्तों तक चलती है। हालांकि FSSAI के मुताबिक, जिस मिठाई में घी और ड्राई फ्रूट्स हों उसे पैकेट खुलने के बाद 7 दिनों के अंदर खा लेना चाहिए।

प्रश्न :-  सोन पापड़ी के लिए कौन सा शहर प्रसिद्ध है?

उत्तर :- भले ही पूरा राज्य अपनी मिठाई के लिए लोकप्रिय है, लेकिन यह बक्सर और मुंगेर शहरों की खासियत है। सोन पापड़ी चीनी, बेसन और घी को मिलाकर बनाई जाती है.

प्रश्न :  सोन पापड़ी व्रत में खा सकते हैं क्या?

उत्तर :-  वैसे तो वर्त में मिठाइयों को खाया जाता रहा है | लेकिन बाजार से ख़रीदा गया मिठाई खाने से अच्छा बिकल्प घर पर ही बनाया हुवा मिठाई हो सकता है |

सोन पापड़ी मिठाई का आविष्कार किसने किया था?

सोन पापड़ी की उत्पत्ति की कोई पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन ऐसा माना जाता है कि इसकी उत्पत्ति भारत के पश्चिमी राज्य महाराष्ट्र में हुई थी। पाक मानवविज्ञानियों के अनुसार, “सोअन” शब्द फ़ारसी मूल का है और यह नाम सोहन पश्माकी शब्द से आया है।

 प्रश्न :-  सोन पापड़ी में कितनी कैलोरी होती है?

उत्तर :-  गुलाबजामुन की तरह ही सोन पपड़ी भी दीवाली के मौके पर हर घर में जरूर आती है. इसके एक टुकड़े में 160 कैलोरी और 15 ग्राम चीनी होती है. मोतीचूर के एक लड्डू में  कैलोरी और 15 ग्राम चीनी होती है इसलिए इसे खाने से पहले आप इसकी कैलोरी पर जरूर ध्यान दें.

प्रश्न :-  क्या आप सोन पापड़ी को फ्रिज में रखते हैं?

उत्तर :-  भंडारण अनुशंसाएँ: पैक को सीधी धूप से दूर रखें। पैक को ठंडी और सूखी जगह पर रखें। कृपया इसे रेफ्रिजरेटर में न रखें ।

प्रश्न :-  सोन पापड़ी को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

उत्तर :-  सोन पापड़ी–जिसे पतीसा, सैन पापड़ी, सोहन पापड़ी या शोनपापड़ी भी कहा जाता है–इसकी बनावट परतदार होती है और ज्यादातर चौकोर आकार में आती है। इसे इंडियन कैंडी फ्लॉस के नाम से भी जाना जाता है।


vikas_vaani

Vikasvaani.com में स्वागत है । आपका _ मेरा नाम विकाश शर्मा है। और मैं झारखंड के रहने वाला हूं। मुझे प्यार खाने और पकाने के प्रति है। और मैं अपने ब्लॉग के माध्यम से अपने पैशन को साझा करने के लिए हमेशा तत्पर है। मैं अपने ब्लॉग पर विविध प्रकार के स्वादिष्ट खाने के व्यंजनों के साथ ही खाने के तैयारी में मदद करने के टिप्स और ट्रिक्स साझा करते है। email id _ vikasvaani91@gmail.com

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2023-2024 all rights reserved